यदि हाँ, इंटरनेट को इस सदी का सबसे बड़ा मंच व प्रौद्योगिकी माना गया है और यह हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का एक अभिन्न अंग बन चुका है | यह एक सिखानेवाले संचार के साधन के रूप में हमारी मदद करता है और यह हमें अवसरों की एक विस्तृत श्रेणी प्रदान करता है | यह ज्ञान का एक बहुमूल्य स्त्रोत है और यह सृजन व कल्पनाशीलता को प्रोत्साहित करता है|.
क्या आप नैतिकता का अनुसरण करते हैं?

क्या आप नैतिकता का अनुसरण करते हैं

चरण 1: क्या आप आपके परिवार के साथ इंटरनेट की पहुँच को साझा करते हैं?

इंटरनेट पर सुरक्षित रहने के लिए पहला चरण होता है, परिवार के सदस्यों के साथ इंटरनेट की गतिविधियों को साझा करना | हमारे माता-पिता हमें सदैव प्रेम करते हैं और हमारी सुरक्षा पर ध्यान देते हैं, जिससे वे कठिनाई की सभी घड़ियों में हमारे साथ रहें | तो चलिए इंटरनेट पर हम क्या करते हैं और क्या सामना करते हैं, वे प्रत्येक चीज हम साझा करें |.

चरण 2: क्या आप परिवार- कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं?

यदि हाँ.

चूँकि अधिकांश ऑनलाइन गेम्स या विडिओज में खेलने या देखने के लिए पहुँच हेतु क्रेडिट कार्ड की जरूरत पड़ सकती है और कभी परिवार के सदस्य इन साझा कंप्यूटर पर ये जानकारियाँ छोड़ देते हैं | उनकी अनुमति के बगैर हमें इनका उपयोग नहीं करते हैं |.

चरण 3: क्या आपको विडिओज देखना प्रिय है?

इंटरनेट पर विडिओज देखना हमेशा मस्ती व मनोरंजन से भरा होता है | लेकिन उसी समय इसमें जोखिमें भी हैं, जैसे कि दुर्भावनापूर्ण लिंक्स जो आपको अनुचित या गैर-कानूनी विषय सामग्री पर ले जा सकती है | यदि आपका ऐसी किसी गतिविधि से सामना होता है, तो उसकी सूचना आपके परिवार के सदस्यों को दें |.

परिवार के सदस्यों को याद दिलाएं कि ऑनलाइन मिलने वाले लोग अनजान हो सकते हैं

चरण 4: क्या आप इंटरनेट पर किसी बड़ी हस्ती का अनुसरण करते हैं?

अन्य बच्चों की तरह हम भी सभी क्षेत्रों की सभी प्रकार की हमारी पसंदीदा हस्तियों का अनुसरण करते हैं और उनसे गपशप करते हैं | हस्तियों की कई साईट्स हैं और उनका संचालन स्वयं हस्तियाँ करती हैं या मनोरंजन समाचारों के प्रकाशक करते हैं |.

हमें प्रशंसकों की साईट्स के लिए अधिक चौकन्ना रहना चाहिए, जो हमें तलाश के फलस्वरूप मिलती हैं, लेकिन वास्तव में उनका संचालन हस्तियाँ नहीं करती हैं या वे वे करते हैं जो उन्हें आवृत्त करते हैं | यह कहना हमेशा आसान नहीं होता है, लेकिन कम से कम ये अक्सर तलाश के परिणाम में नीचे रहते हैं |

चरण 5: क्या आप मानते हैं कि ईन्टरनेट पर सब कुछ सही है?

यह सोचना विद्यार्थियों में सर्व-सामान्य है, कि इंटरनेट पर सब कुछसही होता है | लेकिन यह बहुत सदस्यों के नजरियों का संग्रहण है, क्योंकि वे बिना किसी मार्गदर्शन व नियंत्रण के उन्हें लिख सकते हैं और पोस्ट कर सकते हैं | इंटरनेट मूल्यवान जानकारियों का खजाना होता है, लेकिन अक्सर पहुँच में कठिन होता है, कम खर्चीला व विस्तृत वितरणवाला होता है और इंटरनेट असत्यता व अशुद्धियों का एक बड़ा माध्यम है |.
निश्चित ही यह बहुत मूल्यवान है, लेकिन आपको यह मालूम होना चाहिए कि फिर भी पूर्वाग्रह से युक्त दृष्टिकोण व जानकारियाँ हैं, जिससे वे अपने उत्पादों व अजेंडा का विपणन कर सकें | हमें सावधान रहना चाहिए और इसकी पुष्टि इंटरनेट के विभिन्न स्त्रोतों पर जाकर करना चाहिए |.

चरण 6: क्या आपको गेम्स खेलना प्रिय है?

हाँ, बच्चों को गेम्स खेलना प्रिय है |.हमें सदैव ऑनलाइन गेम्स खेलना प्रिय है और इसके लिए हम हमारी भुजाएँ अनजान सदस्यों के लिए और अधिक फैला देते हैं, हम सबके लिए इंटरनेट एक महान अवसर है, जिससे हम हमारे सदस्यों के दायरे को और अधिक फैला सकें | कुछ वेबसाइट्स में खेलने के लिए क्रेडिट कार्ड विवरणों की जरूरत रहती हैं, जबकि वे निशुल्क होते हैं | लेकिन हम हमेशा इंटरनेट पर मुफ्त खेल खेलते हैं |

उसी समय, हमें यह भी मालूम होना चाहिए कि यदि हम परिवार के क्रेडिट कार्ड के विवरण यदि साझा करते हैं, तो उसमें जोखिम है और उसी समय स्वचालित प्रभार भी परिवार पर बोझ होता है | विवरण व पहचान जो वेबसाइट पर दी जाती हैं, वे दूसरे भी खोल सकते हैं और तब पहचान-चोरी हो सकती है |.

चरण 7: क्या आपको सामाजिक होना प्रिय है?

हाँ, बच्चे सामाजिक होते हैं |. हम हमेशा मित्रों के संपर्क में रहते हैं और नए सदस्यों के लिए हम हमारी भुजाओं को विस्तार देते हैं | हम सभी के लिए इंटरनेट एक बड़ा अवसर है, जिससे हम हमारे मित्रों के दायरे को और बड़ा कर सकें |.

उसी समय हमें यह भी मालूम होना चाहिए कि इसके कुछ सामाजिक कारण है कि क्यों बच्चे हैक किए जाते हैं | बदमाशी सामान्य है, क्योंकि कुछ बच्चे या हैकर्स कोशिश करते हैं कि साझा किए गए पासवर्ड या दुर्भावनापूर्ण साईट्स पर लिंक्स को पोस्ट कर घबराहट के सन्देश पोस्ट किए जाएँ |.

हमें पासवर्ड्स साझा नहीं करना चाहिए, यहाँ तक कि निकटतम सहयोगियों के साथ भी और जब उन्होंने अन्य लोगों के साथ साझा किए गए कंप्यूटर्स का इस्तेमाल बंद कर दिया हो, तब खातों को हमेशा बंद कर देना चाहिए, विशेषकर वे जो सार्वजानिक उपयोग में आते हैं, जैसे कि शाला पर या सार्वजनिक पुस्तकालयों में |.

चरण 8: क्या आप अपनी पहचान खुली रखते हैं?

हैकर्स या हमलावरों के लिए बच्चों की पहचान बहुत मूल्यवान है |. बच्चों की जानकारियाँ जैसे कि उनका नाम, पता, शाला का नाम अपराधी प्राप्त कर लेते हैं, जिससे उन्हें लक्ष्य बनाया जा सके | बच्चों व उनके माता-पिता के पासवर्ड्स मालूम करने के लिए एकत्रित जानकारियाँ उपयोगी हो सकती है, क्योंकि सामान्यतः परिवार के सदस्यों का व जो परिवार के नामों से संबंधित हैं, उनके द्वारा सामान्य पासवर्ड्स का अनुमान लगाया जा सके | साथ ही वे उन्हीं जानकारियों का उपयोग ऑनलाइन के द्वारा आपसे मित्रता बनाने के लिए कर सकते हैं, जिससे वे आपके परिवार के बारे में मालूम कर सकें और उसके फलस्वरूप वे आपके परिवार के सदस्यों के नाम पर क्रेडिट कार्ड्स का उपयोग कर सकते हैं | बच्चों को यह सलाह दी जाती है कि वे सोशल नेटवर्क पर कोई भी संवेदनशील व वित्तीय पहलुओं से संबंधित कोई भी जानकारी साझा न करें और जाने-पहचाने व अनजान सदस्यों से निजता बनाए रखें |.

Page Rating (Votes : 2)
Your rating: